15 सितंबर 2012

और ये जहर भारत में सबसे ज्यादा बिकता है


भारत की कोई कंपनी 1 करोड़ रुपए लेकर नेपाल जाती हैं । वहाँ 1 फैक्ट्री लगाती है । नेपाल के 100 लोग उसमे काम करते हैं । 1 साल बाद हमारी कंपनी नेपाल मे 11 करोड़ रूपये कमाती है । और मान लो 11 करोड़ मे से वो 1 करोड़ रूपये के वेतन काम करने वालों को बाँट देती है । और मान लो 1 करोड़ रूपये का ही नेपाल की सरकार tax दे देती है । और बाकी बचे 9 करोड़ रूपये net profit भारत ले आती है । तो फाइदा नेपाल को हो रहा है । या भारत को ? 1 अनपढ़ आदमी भी समझ जाएगा कि फायदा सिर्फ भारत को हो रहा है । नेपाल का पैसा भारत जा रहा है । लेकिन American a...nt मनमोहन सिंह कहता है - walmart के आने से भारत को फायदा होगा । दोस्तो एक बार यहाँ जरूर click करें ।
http://www.youtube.com/watch?v=ZsDzKUSspOQ
♥♥♥
The Boy who really Loves his girlfriend Is Not the one who Unbuttons her Shirt !
But, he’s the One . Who Closes It and says - You Deserve to be Respected ♥♥
♥♥♥
A Hug pulls two persons closer but they don't see each others expressions when it happens ! Reason ? Some great moments are just meant to be felt 
♥♥♥

चाहतों की दुनियाँ में । सपने रंगीन सजाये रखना । मुस्कराती हुई महफ़िल में । खुद को हँसाये रखना ।
तन्हाईयाँ जब सताने लगें । हताशा के भँवर में । नाम हमारा लेकर तुम । खुद को उलझाये रखना ।
हमारी यादों के सुवास में । महकाना अपनी यादों को । हम लौट कर आएँगे । बस इतमीनान बनाये रखना ।
♥♥♥
विक्स । अमेरिका की 1 कंपनी का 1 उत्पाद है - विक्स । भारत में हमने 1 टीम बना कर 1 छोटा सा सर्वेक्षण किया । ये जानने के लिए कि किसी भी केमिस्ट के काउंटर पर बिना डॉक्टर के प्रेस्क्रिप्सन के सबसे ज्यादा बिकने वाली दवा कौन सी है ? तो पता चला कि वो दवा है - विक्स । गले की खिचखिच । तो विक्स ले लो । सर्दी । खांसी । जुकाम । तो विक्स ले लो । ऐसा धडाधड विज्ञापन ये करते हैं कि - लोगों का दिमाग घूम जाता है । और अकेला 1 ब्रांड इस देश में सबसे ज्यादा बिक जाता है । फिर मैंने और हमारी टीम ने ये जानने की कोशिश की कि - ये पता लगाओ कि ये कंपनी जो कि विक्स बनाती

है । जिसका नाम है - प्रोक्टर एंड गैम्बल । ये अमेरिकन कंपनी है । ये कंपनी इस विक्स को अमेरिका में बेचती है क्या ? और यूरोप के देशों में बेचती है क्या ? क्योंकि प्रोक्टर एंड गैम्बल का व्यापार दुनिया भर के देशों में है । 56 देशों में ये व्यापार करती है । तो पता चला कि - अमेरिका में ये नहीं बिकता । फ़्रांस में नहीं बिकता । जर्मनी में नहीं बिकता । स्विटजरलैंड में नहीं बिकता । स्वीडन में नहीं बिकता । नार्वे में नहीं बिकता । आयरलैंड में नहीं बिकता । इंगलैंड में नहीं बिकता । किसी देश में उनका जो ब्रांड नहीं बिक रहा है । वो भारत में उनका सबसे ज्यादा बिकने वाला ब्रांड है । और कंपनी को सबसे ज्यादा फायदा देती है । ये कंपनियाँ टेलीविजन के माध्यम से । पत्र पत्रिकाओं के माध्यम से । अख़बारों के माध्यम से । फिजूल की दवाएं भारत के बाजार में बेच लेती हैं  । आप जानेंगे । तो आश्चर्य करेंगे कि दुनिया भर के देशों में 1 अंतर्राष्ट्रीय कानून है कि दवाओं का विज्ञापन आप 

टेलीविजन पर । पत्र पत्रिकाओं में । अख़बारों में नहीं कर सकते । लेकिन भारत में धड़ल्ले से हर माध्यम में दवाओं का विज्ञापन आता है । और भारत में भी ये कानून लागु है । उसके बावजूद आता है । जब इससे सम्बंधित विभागों के अधिकारियों से बात कीजिये । तो वो कहते हैं कि - हम क्या कर सकते हैं । आप जानते हैं कि भारत में सब संभव है । तो ऐसी बहुत सारी फालतू की दवाएँ हजारों की संख्या में भारत के बाजार में बेचीं जा रही है ।
विक्स नाम की दवा अमेरिका में बनाना और बेचना दोनों जुर्म है । अगर कोई डाक्टर किसी को विक्स की प्रेस्क्रिप्सन लिख दे । तो उस डॉक्टर को 14 साल की जेल हो जाती है । उसकी डिग्री छीन ली जाती है । क्योंकि विक्स जहर है ? और ये आपको - दमा । अस्थमा । 

ब्रोंकिअल अस्थमा कर सकता है । इसीलिए दुनिया भर में WHO और वैज्ञानिकों ने इसे जहर घोषित किया । और ये जहर भारत में सबसे ज्यादा बिकता है । विज्ञापनों की मदद से । विक्स बहुत ज्यादा महंगी मिलती है । उदाहरण के तौर पर 25 ग्राम 40 रूपये की । 50 ग्राम 80 रूपये की । और 100 ग्राम 160 रूपये की । मतलब 1 किलो विक्स की कीमत 1600 रुपया है ।
विक्स पेट्रोलियम जेली से बनता है । जिसकी कीमत 60 -70 रूपये किलो है । और विक्स की बिक्री में प्रोक्टर एंड गैम्बल कंपनी को ( बीस हजार ) 20000% से ज्यादा का मुनाफा है । ये मुनाफा आपकी जेब से लूटा जा रहा है । और सरकार इस घोटाले में शामिल है । सरकार ने लाइसेन्स दे रखा है । आँखे बंद कर रखी है । और कंपनी देश को लूट रही है । जय हिन्द । राजीव दीक्षित ।
♥♥♥
गुजरात के दंगों पर पछाड़े मार मार कर रोने वाली । और कोर्ट के फैसले पर बल्लियों उछलने वाली " तीस्ता सीतलवाड़ " भले ही कुछ लोगों के लिए इंसाफ की देवी और दुखियारों की मसीहा हों । पर सच कुछ और ही है ? गुजरात दंगों में मोदी की छवि बिगाड़ने के लिए तीस्ता ने नीचता की सारी हदें पार कर दी है । ये हम नहीं कह रहे । ये बात खुद तीस्ता के सहयोगी ( मुस्लिम ) बता रहे हैं । पोस्ट के साथ दिए लिंक का वीडिओ देंखें l

कैसे तीस्ता ने गुजरात के लोगों को जबरदस्ती पकड़ पकड़ कर अपने NGO में रजिस्टर करवाया ? कैसे तीस्ता ने बिना लोगों की जानकारी के उनके नाम से फर्जी बयान दर्ज कराये ? कैसे तीस्ता ने वकीलों और नोटरियों पर लाखों करोड़ उडाये ? कैसे तीस्ता ने अपने साथ देने वालों का गलत इस्तेमाल किया ? कैसे दिल्ली में बैठ कर इस घटना को अपनी उँगलियों पर नाच रहीं थी - तीस्ता । कैसे गुजराती मुसलमानों को तीस्ता ने डरा धमका कर गलत बयान दिलवाए ? कैसे तीस्ता से खौफ में रहते थे । उसके सहयोगी और पीड़ित । कैसे तीस्ता को मिलता था - विदेशों से पैसा ।
निर्दोषों को सजा दिलवा कर मोदी की छवि बिगाड़ने के लिए वकीलों नोटेरियों 

सबूतों और गवाहों की खरीद फरोक्त बराबर हुई । पैसा मिला विदेशों से । कुछ समझे क्यों ? देखें - 
video link - http://www.youtube.com/watch?v=92thZReqqf4
♥♥♥
चाकलेट का नाम सुनते ही बच्चों में गुदगुदी न हो । ऐसा हो ही नहीं सकता । बच्चों को खुश करने का एक प्रचलित साधन है - चाकलेट । बच्चों में ही नहीं । वरन किशोरों तथा युवा वर्ग में भी चाकलेट ने अपना विशेष स्थान बना रखा है । क्या आप जानते है ? चाकलेट में काफ रेनेट ( बछड़े के मांस का रस मिला होता है )
पिछले कुछ समय से टाफियों तथा चाकलेटों का निर्माण करने वाली अनेक कंपनियों द्वारा अपने उत्पादों में आपत्ति जनक अखाद्य पदार्थ मिलाये जाने की खबरें सामने आ रही हैं । कई 

कंपनियों के उत्पादों में तो हानिकारक रसायनों के साथ साथ गायों की चर्बी मिलाने तक की बात का रहस्योदघाटन हुआ है ।
गुजरात के समाचार पत्र " गुजरात समाचार " में प्रकाशित एक समाचार के अनुसार - नेस्ले यू के  लिमिटेड .. द्वारा निर्मित " किटकेट " नामक चाकलेट में कोमल बछड़ों के रेनेट ( मांस ) का उपयोग किया जाता है । यह बात किसी से छिपी नहीं है कि किटकेट बच्चों में खूब लोकप्रिय है । अधिकतर शाकाहारी परिवारों में भी इसे खाया जाता है । नेस्ले यू के लिमिटेड की न्यूट्रिशन आफिसर श्रीमती वाल एंडरसन ने अपने एक पत्र में बताया कि - किटकेट के निर्माण में कोमल बछड़ों के रेनेट का उपयोग किया जाता है । फलतः किटकेट शाकाहारियों के खाने योग्य नहीं है ।  इस पत्र को अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका " यंग जैन्स " में प्रकाशित किया गया था । सावधान रहो । ऐसी कंपनियों के कुचक्रों से । टेलीविजन पर अपने उत्पादों को शुद्ध दूध पीने वाले अनेक कोमल बछड़ों के मांस की प्रचुर मात्रा अवश्य होती है । हमारे धन को अपने देशों में 

ले जाने वाली ऐसी अनेक विदेशी कंपनियाँ हमारे सिद्धांतों तथा परम्पराओं को तोड़ने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं । व्यापार तथा उदारीकरण की आड़ में भारत वासियों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ हो रहा है ।
1857 में अंग्रेजों ने कारतूसों में गायों की चर्बी का प्रयोग करके सनातन संस्कृति को खण्डित करने की साजिश की थी । परन्तु मंगल पाण्डेय जैसे वीरों ने अपनी जान पर खेलकर उनकी इस चाल को असफल कर दिया । अभी फिर यह नेस्ले कम्पनी चालें चल रही है । अभी मंगल पाण्डेय जैसे वीरों की जरूरत है । ऐसे वीरों को आगे आना चाहिए । देश को खण्ड खण्ड करने के मलिन मुरादों वालों और हमारी संस्कृति पर कुठाराघात करने वालों को सबक सिखाना चाहिए । लेखकों । पत्रकारों । प्रचारकों को उनका डटकर विरोध करना 

चाहिए । देव संस्कृति । भारतीय समाज की सेवा में सज्जनों को साहसी बनना चाहिए । इस ओर सरकार का भी ध्यान खिंचवाना चाहिए ।
ऐसे हानिकारक उत्पादों के उपभोग को बंद करके ही हम अपनी संस्कृति की रक्षा कर सकते हैं । इसलिए हमारी संस्कृति को तोड़ने वाली ऐसी कम्पनियों के उत्पादों के बहिष्कार का संकल्प लेकर आज और अभी से भारतीय संस्कृति की रक्षा में हम सबको कंधे से कंधा मिलाकर आगे आना चाहिए ।
Rennet - Rennet is a natural complex of enzymes produced in any young mammal ’ s stomach ( such as a calf’s ) designed to digest the mother's milk. Rennet helps to coagulate the milk, causing it to separate into solids ( curds ) and liquid ( whey ) Rennet is mainly used in the cheese making industry, to separate the milk into curds and whey specifically to make hard cheese.

देखिये । पढ़िये । खुद चॉकलेट की विशेषज्ञ बे्वसाइट क्या कहती है  http://goo.gl/RlT8E
और कुछ संदर्भ - http://goo.gl/eM4q7http://goo.gl/YXf2Mhttp://goo.gl/EO8mb
केडबरी के कुछ उत्पाद पर प्रतिबंध - http://goo.gl/F0EXp
क्या केडबरी शाकाहारियो के लिए भी उत्पाद बनाती है । हीना मोदी ब्लॉग - http://goo.gl/vhiGe
Sharma Punit - http://www.chocolateexpert.co.uk/vegetarian-and-vegan-chocolate.html
यह बात घर करती जा रही है कि - ये खाद्य कंपनियाँ खाद्य व विपणन मामलों के मंत्रालयों मे अपनी मर्जी से

नियुक्ति करती है । वहाँ कोई शाकाहारी अफसर नहीं होना चाहिए । ऐसा है शायद ?
♥♥♥
यादों की कीमत वो क्या जानें । जो ख़ुद यादों को मिटा दिए करते हैं ।
यादों का मतलब तो उनसे पूछो । जो यादों के सहारे जिया करते है ।
♥♥♥
सहस्रों वर्षों से जीवित हैं । सप्त चिरंजीव । और सृष्टि के अंत होने तक वे देह में रहेंगे ।
श्लोक - अश्वत्थामा बलिर्व्यासो हनुमांश्च विभीषणः । कृपः परशुरामश्च सप्तैते चिरंजीविनः ।

अर्थात - अश्वत्थामा । बलि । व्यास । हनुमान । विभीषण । कृपाचार्य और भगवान परशुराम । ये सभी चिरंजीवी हैं ।
यह दुनिया का 1 आश्चर्य है । विज्ञान इसे नहीं मानेगा । योग और आयुर्वेद कुछ हद तक इससे सहमत हो सकता है । लेकिन जहाँ हजारों वर्षों की बात हो । तो फिर योगाचार्यों के लिए भी शोध का विषय होगा । इसका दावा नहीं किया जा सकता । और इसके किसी भी प्रकार के सबूत नहीं है । यह अलौकिक है । किसी भी प्रकार के चमत्कार से इंकार ‍नहीं किया जा सकता । सिर्फ शरीर बदल बदल कर ही हजारों वर्षों तक जीवित रहा जा सकता है । यह संसार के 7 आश्चर्यों की तरह है ।
हिंदू इतिहास और पुराण के अनुसार ऐसे 7 व्यक्ति हैं । जो चिरंजीवी हैं । यह सब किसी न किसी वचन  नियम या शाप से बंधे हुए हैं । और यह सभी दिव्य शक्तियों से संपन्न है । योग में जिन अष्ट सिद्धियों की बात कही गई है । वे सारी शक्तियाँ इनमें विद्यमान है । यह परा मनोविज्ञान जैसा है । जो परा 

मनोविज्ञान और टेलीपैथी विद्या जैसी आज के आधुनिक साइंस की विद्या को जानते हैं । वही इस पर विश्वास कर सकते हैं । आओ जानते हैं कि - हिंदू धर्म अनुसार कौन से हैं । यह 7 जीवित महा मानव ।
1 बलि  - राजा बलि के दान के चर्चे दूर दूर तक थे । देवताओं पर चढ़ाई करने राजा बलि ने इंद्र लोक पर अधिकार कर लिया था । बलि सतयुग में भगवान वामन अवतार के समय हुए थे । राजा बलि के घमंड को चूर करने के लिए भगवान ने ब्राह्मण का भेष धारण कर राजा बलि से 3 पग धरती दान में माँगी थी । राजा बलि ने कहा - जहाँ आपकी इच्छा हो । 3 पैर रख दो । तब भगवान ने अपना विराट रूप धारण कर 2 पगों में तीनों लोक नाप दिए । और तीसरा पग बलि के सर पर रखकर उसे पाताल लोक भेज दिया ।

2 परशुराम - परशुराम राम के काल के पूर्व महान ऋषि रहे हैं । उनके पिता का नाम जमदग्नि और माता का नाम रेणुका है । पति परायणा  रेणुका ने 5 पुत्रों को जन्म दिया । जिनके नाम क्रमशः - वसुमान । वसुषेण । वसु । विश्वावसु । तथा राम रखे गए । राम की तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने उन्हें फरसा दिया था । इसीलिए उनका नाम परशुराम हो गया ।
भगवान परशुराम राम के पूर्व हुए थे । लेकिन वे चिरंजीवी होने के कारण राम के काल में भी थे । भगवान परशुराम विष्णु के छठवें अवतार हैं । इनका प्रादुर्भाव वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हुआ । इसलिए उक्त तिथि अक्षय तृतीया कहलाती है । इनका जन्म समय सतयुग और त्रेता का संधिकाल माना जाता है ।
3 हनुमान - अंजनी पुत्र हनुमान को भी अजर अमर रहने का वरदान मिला हुआ है । यह राम के काल में राम भगवान के परम भक्त रहे हैं । हजारों वर्षों बाद वे महाभारत काल में भी नजर आते हैं । महाभारत में प्रसंग हैं कि - भीम उनकी पूँछ को मार्ग से हटाने के लिए कहते हैं । तो हनुमान कहते हैं कि - तुम ही हटा लो । लेकिन भीम अपनी पूरी ताकत लगाकर भी उनकी पूँछ नहीं हटा पाता है ।
4 विभीषण - रावण के छोटे भाई विभीषण । जिन्होंने राम की नाम की महिमा जप कर अपने भाई के विरु‍द्ध लड़ाई में उनका साथ दिया । और जीवन भर राम नाम जपते रहे ।
5 ऋषि व्यास - महाभारत कार व्यास ऋषि पराशर एवं सत्यवती के पुत्र थे । ये साँवले रंग के थे । तथा यमुना के

बीच स्थित एक द्वीप में उत्पन्न हुए थे । अतएव ये साँवले रंग के कारण " कृष्ण " तथा जन्म स्थान के कारण " द्वैपायन " कहलाए । इनकी माता ने बाद में शान्तनु से विवाह किया । जिनसे उनके 2 पुत्र हुए । जिनमें बड़ा चित्रांगद युद्ध में मारा गया । और छोटा विचित्र वीर्य संतान हीन मर गया । 
 कृष्ण द्वैपायन ने धार्मिक तथा वैराग्य का जीवन पसंद किया । किन्तु माता के आग्रह पर इन्होंने विचित्र वीर्य की दोनों सन्तान हीन रानियों द्वारा नियोग के नियम से 2 पुत्र उत्पन्न किए । जो धृतराष्ट्र तथा पाण्डु कहलाए । इनमें तीसरे विदुर भी थे । व्यास स्मृति के नाम से इनके द्वारा प्रणीत एक स्मृति ग्रन्थ भी है । भारतीय वांडगमय एवं हिन्दू संस्कृति व्यास की ऋणी है ।
6 अश्वत्थामा - अश्वत्थामा गुरु द्रोणाचार्य के पुत्र हैं । अश्वस्थामा के माथे पर अमर मणि है । और इसीलिए वह अमर हैं । लेकिन अर्जुन ने वह अमर मणि निकाल ली थी । बृह्मास्त्र चलाने के कारण कृष्ण ने उन्हें शाप दिया था कि - कल्पांत तक तुम इस धरती पर

जीवित रहोगे । इसीलिए अश्वत्थामा 7 चिरंजीवियों में गिने जाते हैं । माना जाता है कि - वे आज भी जीवित हैं । तथा अपने कर्म के कारण भटक रहे हैं । हरियाणा के कुरुक्षेत्र एवं अन्य तीर्थों में यदा कदा उनके दिखाई देने के दावे किए जाते रहे हैं । मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के किले में उनके दिखाई दिए जाने की घटना भी प्रचलित है । 
7 कृपाचार्य - शरद्वान गौतम के एक प्रसिद्ध पुत्र हुए हैं - कृपाचार्य । कृपाचार्य अश्वथामा के मामा और कौरवों के कुलगुरु थे । शिकार खेलते हुए शांतनु को 2 शिशु प्राप्त हुए । उन दोनों का नाम कृपी और कृप रखकर शांतनु ने उनका लालन पालन किया । महाभारत युद्ध में कृपाचार्य कौरवों की ओर से सक्रिय थे ।
♥♥♥
संतन के मन रहत है सबके हित की बात ।  घट घट देखे अनख को पूछे जात न पात ।
♥♥♥
Life may downsize the things we rely on or how we see ourselves, but our spirit waits like a song in a blanket…No matter how dear the tapestry, there is something more dear in each of us that waits for the blanket to be lifted, so that our spirit can sing  - Mark Nepo 
♥♥♥
Living is very simple ..Loving is also simple..Laughing is too simple.. Winning is also simple .Than

what is difficult ? Being " SIMPLE " is very difficult .
‎♥♥♥
2 beautiful tips to stand in every condition - Never take help of Tears to show Emotions  & Never take help of Words to show Anger.
एक टिप्पणी भेजें