09 सितंबर 2012

1984 सिख विरोधी दंगों का सच


हिन्दी में पढ़ें । क्या लिखा अंग्रेज़ macaulay ने 1835 में अंग्रेज़ों की संसद को - मैं भारत के कोने कोने में घूमा हूँ । मुझे एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं दिखाई दिया । जो भिखारी हो । चोर हो । इस देश में मैंने इतनी धन दौलत देखी है । इतने ऊंचे चारित्रिक आदर्श गुणवान मनुष्य देखे हैं कि मैं नहीं समझता । हम इस देश को जीत पायेंगे । जब तक इसकी रीड की हड्डी को नहीं तोड़ देते - 
जो है । इसकी आध्यात्मिक संस्कृति । और इसकी विरासत ।
इसलिए मैं प्रस्ताव रखता हूँ कि - हम पुरातन शिक्षा व्यवस्था और संस्कृति को बदल डालें । क्योंकि यदि भारतीय सोचने लगे कि जो भी विदेशी हैं । और अँग्रेजी है । वही अच्छा है । और उनकी अपनी चीजों से बेहतर है । तो वे अपने आत्म गौरव और अपनी ही संस्कृति को भुलाने लगेंगे । और वैसे बन जायेंगे । जैसा हम चाहते हैं । एक पूरी तरह से दमित देश ।
♥♥♥
और बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि macaulay अपने इस मकसद में कामयाब हुआ ।
और जैसा उसने कहा था कि मैं भारत की शिक्षा व्यवस्था को ऐसा बना दूंगा कि इसमें पढ़ कर निकलने वाला व्यक्ति सिर्फ शक्ल से भारतीय होगा । और अक्ल से पूरा अंग्रेज़ होगा ।

और यही आज हमारे सामने है दोस्तो ! आज हम देखते हैं । देश के युवा पूरी तरह काले अंग्रेज़ बनते जा रहे हैं ।
♥♥♥
उनकी अंग्रेजी भाषा बोलने पर गर्व होता है । अपनी भाषा बोलने में शर्म आती है ।
madam बोलने में कोई शर्म नहीं आती । श्रीमती बोलने में शर्म आती है ।
अंग्रेजी गाने सुनने में गर्व होता है । मोबाइल में अंग्रेजी tone लगाने में गर्व होता है ।
विदेशी समान प्रयोग करने में गर्व होता है । विदेशी कपड़े । विदेशी जूते । विदेशी hair style बड़े गर्व से कहते हैं - मेरी ये चीज इस देश की हैं । उस देश की हैं । ये made in uk है । ये made इन america है ।
अपने बच्चों को convent school पढ़ाने में गर्व होता है । बच्चा ज्यादा अच्छी अंग्रेजी बोलने लगे । तो बहुत गर्व । हिन्दी में बात करे - तो अनपढ । विदेशी खेल क्रिकेट से प्रेम । कुश्ती से नफरत ।

विदेशी कंपनियों pizza hut  macdonald  kfc पर जाकर कुछ खाना । तो गर्व करना । और गरीब रेहड़ी वाले भाई से कुछ खाना । तो शर्म ।
अपने देश धर्म संस्कृति को गालियाँ देने में सबसे आगे । सारे साधू संत इनको चोर ठग नजर आते हैं । लेकिन कोई ईसाई मिशनरी अंग्रेजी में बोलता देखें । तो जैसे बहुत समझदार लगता है ।
करोड़ों वर्ष पुराने आयुर्वेद को गालियाँ । और अंग्रेजी ऐलोपैथी को तालियाँ ।
विदेशी त्यौहार वैलंटाइन मनाने पर गर्व । स्वामी विवेकानद का जन्मदिन याद नहीं ।
दोस्तो macaulay अपनी चाल मे कामयाब हुआ । और ये सब उसने कैसे किया । ये जानने के लिये आप सिर्फ एक बार नीचे दिये गए link पर click करें ।
https://www.youtube.com/watch?v=jwPuWgVuVwU
♥♥♥
वन्दे मातरम वन्दे मातरम वन्दे मातरम वन्दे मातरम ।

जब सोने तक पर जंग चढ़ा । लोहे को दोष लगाना क्या ? जब मौसम ही मक्कार । तो बादल से आस लगाना क्या ? जब माली ही खुदगर्ज । तो काँटों से बाग़ बचाना क्या ? और हर कोई गद्दार । तो गद्दारों को आजमाना क्या ? इसलिए वक़्त कहता है । लहू का रंग दिखाना होगा ।
♥♥♥
1984 के सिख विरोधी दंगों का सच ।
दोस्तो ! आज हम आपको वो दर्दनाक सच्चाई बताने जा रहे हैं । जिसे सुनकर आपका दिल दहल जायेगा । हममें से ज्यादातर लोगों को यह तो पता है 

कि 1984 में कांग्रेस शासन में सिक्खों के खिलाफ दंगे हुए थे । लेकिन वास्तव में क्या हुआ था ? यह अधिकतर लोग विस्तार से बिलकुल नहीं जानते । आइये जानते हैं । कांग्रेस सरकार द्वारा आयोजित 1984 के सिक्ख विरोधी दंगो का पूरा सच ।
♥♥♥
पार्ट 1 आपातकाल - भारत में राजनैतिक अस्थिरता के चलते प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की सलाह पर तत्कालीन राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ने भारतीय संविधान की धारा 352 के अंतर्गत 25 जून 1975 कों आपातकाल की घोषणा की थी । यह आपातकाल 21 महीने याने 21 मार्च 1977 तक चला । और इस दौरान जनता के अधिकारों पर काफी बंधन आ गये थे । और ठीक इसी वक्त पंजाब राज्य में कुछ सिक्ख अलगाववादी संगठन स्वायत्त खालिस्तान की मांग क रने लगे थे ।
♥♥♥
पार्ट 2 आपरेशन ब्लू स्टार - आपरेशन ब्लू स्टार 5 जून 1984 को भारतीय सेना के द्वारा चलाया गया था । इस

आपरेशन का मुख्य उद्देश्य आतंकवादियों की गतिविधियों को समाप्त करना था । पंजाब में भिंडरा वाले के नेतृत्व में अलगाव वादी ताकतें सिर उठाने लगी थीं । और उन ताकतों को पाकिस्तान से हवा मिल रही थी । पंजाब में भिंडरा वाले का उदय इंदिरा गाँधी की राजनीतिक महत्त्वाकांक्षाओं के कारण हुआ था । अकालियों के विरुद्ध भिंडरा वाले को स्वयं इंदिरा गाँधी ने ही खड़ा किया था । लेकिन भिंडरा वाले की राजनीतिक महत्त्वाकांक्षाएं देश को तोड़ने की हद तक बढ़ गई थीं । जो भी लोग पंजाब में अलगाव वादियों का विरोध करते थे । उन्हें मौत के घाट उतार दिया जाता था । 3 जून 1984 को भारतीय सेना ने स्वर्ण मंदिर पर घेरा डालकर निर्णायक जंग में भिंडरा वाले और उसके कट्टर समर्थकों कों मार गिराया । बाद में मालूम हुआ कि भिंडरा वाले ने पवित्र स्वर्ण मंदिर को आतंक का गढ़ बना लिया था । आपरेशन ब्लू स्टार से सिक्ख समुदाय इस समय काफ़ी आक्रोशित था । उन्हें लगता था कि स्वर्ण मंदिर पर हमला करना उनके धर्म पर हमला करने के समान है । इंदिरा गाँधी को गुप्तचर संस्था " रा " ने आगाह कर दिया था कि - सिक्खों में भारी रोष है । और उन्हें अपनी सिक्योरिटी में सिक्खों को स्थान नहीं देना चाहिए । 

लेकिन इंदिरा गाँधी ने उस परामर्श पर कोई ध्यान नहीं दिया । उस रोष की परिणति 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गाँधी की नृशंस हत्या के रूप में सामने आई ।
अधिक जानकारी के लिये पढ़े - http://aajtak.intoday.in/story.php/content/view/67053/9/76/Assassination-of-Indira-Gandhi-for-our-nation-.html
♥♥♥

पार्ट 3 - 31 अगस्त 1984 दंगों का पहला दिन -
1 सुबह 9.20 बजे दिल्ली में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कों उनके 2 सिक्ख बाडीगार्ड सतवंत सिंह और बेअंत सिंह ने गोलियों से छलनी कर दिया । उन्हें तुरंत एम्स AIIMS अस्पताल में भरती कराया गया ।
2 सुबह 10.50 बजे इंदिरा गाँधी का एम्स अस्पताल में निधन ।
3 सुबह 11.00 बजे । आल इंडिया रेडियो पर यह खबर प्रसारित हुई कि - इंदिरा गांधी की हत्या उनके ही दो सिक्ख बाडीगार्डो ( सुरक्षा रक्षक ) ने की । यह सुनकर सारा देश सन्न रह गया ।
4 शाम 4 बजे राजीव गाँधी पश्चिम बंगाल से लौटकर सीधे एम्स अस्पताल पहुँचते हैं ।
5 शाम 5.30 बजे राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह अपना विदेश दौरा खत्म कर भारत लौटते हैं । और सीधे एम्स अस्पताल में दाखिल होते हैं । चूँकि वे सिख थे । तो अस्पताल के बाहर जमा भीड़ उनकी कार पर पथराव कर कार कों चकनाचूर कर देती है ।
6 शाम को कांग्रेस द्वारा लगाये गये दंगाईयों की टुकडियाँ एम्स अस्पताल से दिल्ली के अलग अलग इलाकों में

कूच करती हैं । कांग्रेसी दंगाई पूरे दिल्ली में सिक्खों के खिलाफ जबरदस्त हिंसा फैलाना शुरू कर देते हैं । कई सिक्खों कों सरेआम मारा गया ।
7 तनाव पूर्ण वातावरण में राजीव गांधी को शाम को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलवाई जाती है । जो कि प्रजातंत्र में वंशवाद की एक मिसाल है ।
8 भाजपा नेता गृहमंत्री नरसिह राव से मिलकर उन्हें दंगो पर तत्काल नियंत्रण पाने की हिदायत देते हैं ।
9 रात में कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार । ललित माकन । H K L भगत ने दंगाईयो कों संगठित कर उन्हें पैसे । तलवार । लाठियाँ । सलाखें मुहैया करवाईं । जो कांग्रेसी नेता पेट्रोल पम्प के मालिक थे । उन्होंने दंगाईयो कों केरोसिन और पेट्रोल के केन की आपूर्ति की । सिक्खों के घरों का पता जानने के लिये कांग्रेस नेताओं ने दंगाईयो को वोटर कार्ड और राशन कार्ड दिये ।
10 कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रात में सिक्खों के घरों पर “ s ” के निशान बना दिये । ताकि दूसरे दिन दंगाई जल्द से जल्द सिक्खों के घरों की

पहचान कर । घरों में घुस कर सिक्खों का कत्ले आम कर सकें ।
अधिक जानकारी के लिये मिश्रा कमीशन के सामने पेश किया गया यह ऐफिडेविट इस लिंक पर पढ़ें - http://www.carnage84.com/affidavits/mishra/promi/Aseem%20Shrivastava.htm
♥♥♥
पार्ट 4 - 1 नवम्बर 1984 दंगों का दूसरा दिन ।

सुबह सुबह कांग्रेस के सांसद सज्जन कुमार ने कांग्रेसी कार्यकर्ता । गुंडे । और दंगाइयो को लेकर रैली निकाली । और सरेआम मासूम सिक्खों का क़त्ल करने के लिये नारे लगाये । सज्जन कुमार ने सिक्खों की हत्या करने वालों को इनाम घोषित किये । कहा - एक भी सिक्ख जिन्दा ना बच पाए ।
सुबह 9 बजे दंगाईयो ने सिक्खों के खिलाफ भयानक कत्ले आम शुरू कर दिया । सबसे पहले गुरुद्वारा में मौजूद सिक्खों को मारा गया । फ़िर सिक्खों के घरों में घुस कर वहाँ महिला । बच्चे । पुरुष सभी को केरोसिन और पेट्रोल छिडक कर जिन्दा जला दिया गया । रेलगाड़ी । बसें रोक कर उनमें सवार सिक्खों को जिन्दा जलाया गया । बीजेपी और अटल जी ने सिक्खों की मदद की । त्रिलोक पुरी । मंगोल पुरी । सुल्तान पुरी इलाकों में सबसे ज्यादा सिक्ख मारे गये ।
अधिक जानकारी के लिए यह लिंक आप देख सकते हैं -
http://www.bbc.co.uk/news/world-asia-india-17811666
♥♥♥
पार्ट 5 - 2 नवम्बर 1984 दंगों का तीसरा दिन - दिल्ली के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगाया गया । लेकिन इसका कोई प्रभाव नहीं था । क्योंकि पुलिस और आर्मी 

सभी को दंगाईयो पर कारवाई करने के बजाय उल्टा उन्हे मदद करने के आदेश दिए गये थे । सिक्खों का नरसंहार जारी रहा ।
अधिक जानकारी के लिए यह लिंक आप देख सकते हैं -
http://ibnlive.in.com/news/1984-antisikh-riots-backed-by-govt-police-cbi/251375-37-64.html
♥♥♥
पार्ट 6 - 3 नवम्बर 1984 दंगों का चौथा दिन - जब दंगाई अपना लक्ष्य प्राप्त कर लेते हैं । तब सेना और पुलिस स्थिति पर नियंत्रण करना शुरू कर देती है । छुटपुट घटनाओं को छोड़कर शाम तक दंगे थम जाते हैं । दिल्ली में सिक्खों की लाशों का अम्बार लग जाता है । 3 नवम्बर तक 2 700 से 20 000 सिक्ख मारे गये । उन लाशों को एम्स अस्पताल ले जाया जाता है ।
♥♥♥
पार्ट 7 - दंगों की जांच - दंगों की जांच के लिये - मारवाह कमीशन । मिश्रा कमीशन । मित्तल कमेटी । नानावटी आयोग और कई अन्य आयोगों का 

गठन किया गया । आयोग और कोर्ट ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता सज्जन कुमार । R K आनंद । ललित माकन । H K L भगत और कांग्रेस पार्टी कों दंगे भडकाने और दंगाईयो कों मदद करने के आरोप में सीधा सीधा दोषी ठहराया । लेकिन पुलिस और कांग्रेसी सरकारों ने कोई कारवाई नहीं की । कांग्रेस नेता जगदीश टायटलर के खिलाफ चल रहे सभी केस कोर्ट ने 2007 में पुख्ता सबूतों के अभाव में बंद कर दिए । और उन्हें बरी कर दिया ।
अधिक जानकारी -  http://www.indianexpress.com/news/cbi-gives-tytler-clean-chit-in-1984-riots-case/442552/
♥♥♥

दंगों के दोषी कांग्रेसी नेता आज भी आजाद घूम रहे हैं । पीडितों के दिल में आक्रोश है । और मृतकों की आत्मा आज भी इंसाफ के इंतजार में है । लेकिन उनकी आवाज सुनेगा कौन ?
शंखनाद । धर्म और राजनीति । जय हिंद । वंदे मातरम ।
http://www.facebook.com/photo.php?fbid=414848321906594&set=o.136814706448061&type=1&theater
♥♥♥

Thought of the Day - Do not educate your child to be rich. Educate him to be Happy. So when he grows up, he will know the value of things, not the price.
♥♥♥
Hold me like i m the last person . U want in yo arms .
Kiss me like its gona b the . Last kiss u ever goin to taste .
Hug me like u want me 4ever . But most of all Luv me like i m the one u
always dreamed of ♥ ♥ By Piyuesh Maheshwari
♥♥♥
Health benefits of Plums - Delicious, fleshy, succulent plums are low in calories and contain no saturated fats; but contain numerous health promoting compounds, minerals and vitamins.

- Certain health benefiting compounds present in the plum fruits, such as dietary fiber, sorbitol, and isatin are known to help regulate the functioning of the digestive system and thereby used in constipation conditions.
- Fresh plums are an excellent source of vitamin C, which is also a powerful natural antioxidant. Consumption of foods rich in vitamin C helps body develop resistance against infectious agents, counter inflammation and scavenge harmful free radicals.
- Fresh plums, especially yellow Mirabelle type, are very good source of vitamin A and beta carotene. Vitamin A is essential for vision. 

It is also required for maintaining healthy mucus membranes and skin. Consumption of natural fruits rich in vitamin A known to protect from lung and oral cavity cancers.
- The fruit is also good in health promoting flavonoid poly phenolic antioxidants such as lutein, cryptoxanthin and zeaxanthin in significant amounts. These compounds help act as protective scavengers against oxygen-derived free radicals and reactive oxygen species (ROS) that play a role in aging and various disease process. zeaxanthin, an important dietary carotenoid selectively absorbed into the retinal macula lutea where it is thought to provide antioxidant and protective light-filtering functions.
- Plums are rich in minerals like potassium, fluoride and iron. Iron is required for red blood cell formation. Potassium in an important component of cell and body fluids that helps controlling heart rate and blood pressure.

- Rich in B-complex group of vitamins such as niacin, vitamin B-6 and pantothenic acid. These vitamins are acting as cofactors help body metabolize carbohydrates, proteins and fats. They also provide about 5% RDA levels of vitamin K. Vitamin K is essential for many clotting factors function in the blood as well as in bone metabolism and helps reduce Alzheimer's disease in the elderly.
‎♥♥♥
WALNUT BRAIN -
- folds of a walnut mimic the appearance of a human brain - and provide a clueto the benefits.
- Walnuts are the only nuts which contain significantamounts of omega-3 fatty acids. 
-They may also help head off dementia. An American study found that walnut extract broke down the protein-based plaques associated with Alzheimers disease. 
- Researchers at Tufts University in Boston found walnuts reversed some signs of brain ageing in rats.
- Dr James Joseph, who headed the study, said walnuts also appear to enhance signalling within the brain and encourage new messaging links between brain cells.!
एक टिप्पणी भेजें