24 जून 2016

7 जन्म तक 1 ही सास

पंडितों के मोहल्ले में एक ठाकुर साहब रहते थे । जो हर रोज चिकन बनाकर खाते थे । चिकन की खुशबू से परेशान होकर पंडितों ने महंत से शिकायत की ।
महंत ने ठाकुर साहब को कहा कि - आप भी ब्राह्मण धर्म स्वीकार कर लो । जिससे किसी को आपसे कोई समस्या ना हो ।
ठाकुर साहब मान गए ।
तो महंत ने ठाकुर साहब पर गंगा जल छिङकते हुए संस्कृत में कहा - तुम पैदा राजपूत हुए थे । पर अब तुम ब्राह्मण हो ।
अगले दिन फिर ठाकुर साहब के घर से चिकन की खुशबू आई । तो सब पंडितों ने महंत से उसकी फिर शिकायत की ।
अब महंत पंडितों को साथ लेकर ठाकुर साहब के घर में गए । तो देखा, ठाकुर साहब चिकन पर
गंगा जल छिडक रहे थे । और कह रहे थे - तुम पैदा मुर्गे हुए थे । पर अब तुम आलू हो ।

😂 😂 😂 😂 😂 😂 😂 😜 😜 😜 😜 😜 😜 😜 😜

एक दिन चित्रगुप्त ने ब्रह्मा से प्रार्थना की - प्रभु, ये करवाचौथ के व्रत से सात जन्म तक एक ही पति मिलने वाली योजना बंद कर दी जाए ।
ब्रह्मा - क्यों ?
चित्रगुप्त - प्रभु, मैनेज करना कठिन होता जा रहा है । औरत सातों जन्म वही पति मांगती हैं । लेकिन पुरुष हर बार दूसरी औरत मांगता है । बहुत दिक्कत हो रही है समझाने में ।
ब्रह्मा - लेकिन यह स्कीम आदिकाल से चली आ रही है । इसे बंद नहीं किया जा सकता ।
तभी नारद मुनि आ गए । उन्होंने सुझाव दिया कि पृथ्वी पर नरेन्द्र मोदी नाम के एक महान विचारक रहते हैं । उनसे जाकर सलाह ली जाये ।
चित्रगुप्त मोदी के पास गए । मोदी ने एक पल में समस्या का समाधान कर दिया - जो भी औरत सातों जन्म वही पति डिमांड करे । उसे दे दो । लेकिन शर्त ये लगा दो कि यदि पति वही चाहिए । तो “सास” भी वही मिलेगी ।
"डिमांड बंद.."
पत्नियां shocked
मोदी rocked 
एक टिप्पणी भेजें