04 अक्तूबर 2013

दोस्त बड़े नालायक हैं कह देंगे - भाभी नमस्ते

1 बिजली आती नहीं है । लालटेन भी आज बुझ गयी है । इशरत के पप्पा के राज में अब - अंधेरा कायम रहेगा ।
2 मोदी के बारे में नीतीश कहते थे कि उनके P M पद का कंडिडेट बनते ही भाजपा बिखर जायेगी । लेकिन आज जद U बिखर रही है ।
3 चारा ने किया लालू को बे'चारा । लालू प्रसाद यादव को आज रांची की CBI कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई ।
4 - 38 करोड़ के घोटाले के लिए लालू को 5 साल की कैद हुई । इस हिसाब से कोलगेट घोटाले में मन्नू जी को तो आजीवन कारावास होनी चाहिए ।
5 और हाँ ! जद U के जगदीश शर्मा भी तो हैं । 4 साल की जेल इनके खाते में भी आई है । जुर्माना भी 4 लाख का है । सांसदी जाएगी । सो अलग ।
6 लालू को 5 साल की जेल की सजा सुनते ही । मुलायम सिंह और मायावती ने बिना शर्त अगले 50 साल तक लगातार कांग्रेस को समर्थन देने का भरोसा दिया है ।
7 गाय भैंस धूम मचाएंगे । मौज मनाएंगे । 5 साल तक दबा के चारा खायेंगे ।
Fodder Scam 8  पाकिस्तान ने PM को देहाती औरत बोलकर कश्मीर के देहात पर ही क़ब्ज़ा कर लिया ।
9 सभी लोग लालू यादव की बात कर रहे हो । घोटाले के जनक कांग्रेसी मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा को भी कोई याद करो । उसने भी तो मेहनत की थी । साभार - अल्का श्रीवास्तव ।
*********
जिंदगी 1 अभिलाषा है । अजब इसकी परिभाषा है ।
जिंदगी क्या है मत पूछो यारो । सवर गई तो जन्नत और बिखर गई तो तमाशा है ।
***********

बड़ी तब्दीलियाँ आईं हैं अपने आप में लेकिन । तुझे याद करने की वो आदत नहीं गयी ।
***********
तुम पर यकीन है मौत पर एतबार है ।  देखते हैं पहले आता है कौन दोनों का इंतजार है ।
***********
लोग जलते रहे मेरी मुस्कान पर । मैंने दर्द की अपने नुमायश न की ।
जब जहाँ जो मिला अपना लिया । जो न मिला उसकी ख्वाहिश न की ।
***********
वादा करते हैं कसमें खाते हैं ।  फ़िर भी न जाने क्यों लोग साथ छोङ जाते हैं ।
हमें तो तकलीफ़ होती है फ़ूल तोङने में भी ।  ना जाने लोग कैसे दिल तोङ जाते हैं ।
***********
जो तुम प्यार का 1 गुलाब दे देते ।  हम उसके बाद सारी बहार दे देते । 
ले पाते चैन से कभी 1 सांस भी अगर ।  फ़िर अपनी कसम दिल का हर करार दे देते । 
तुम से अगर मिल जाता झूठा ही सहारा ।  हम अपनी जिन्दगी का तुमको नाम दे देते ।
मेरी 1 आह के बारे में पूछ लेते अगर तुम ।  हम अपने हर आंसू का हिसाब दे देते ।
अगर याद तुम कर लेते 1 बार जरा सा ।  यादों की जो है तुमको वो किताब दे देते । 
1 लम्हे को जो तेरा प्यार मिल जाता ।  हम उसके बाद हंसते हंसते जां दे देते । 
*********
ये जगमगाती दुनियां मुझे वीरानी लगती है । तेरी बेवफ़ाई की आदत पुरानी लगती है । जिसके इश्क के साथ मौत सकून से आ जाये । ऐसी मुहब्बत पाने में पूरी जवानी लगती है ।
************
चाँद को पीलिया सूरज को बुखार । धरती पानी में भीगी खड़ी है । ऐसे मेँ तुम्हें उसकी पड़ी है ।
***********

कितना प्यार है उनसे अब वो ये जान ले ।  वो ही है जिन्दगी मेरी ये बात मान ले ।
उनको देने को नहीं कुछ पास हमारे ।  बस 1 जान है जब जी चाहे मांग ले ।
*********
हम से आया न गया । तुम से भुलाया न गया ।  फ़ासला कम था मगर । फ़िर भी मिटाया न गया ।
*********
मेरी वफ़ाओं का मुझको सिला वो क्या देगा । मैं जानता हूँ कि मजबूरियाँ गिना देगा ।
**********
किसी के आने या जाने से जिन्दगी नहीं रुकती । बस जीने का अंदाज बदल जाता है ।
********
मत देख ऐ हसीना मुझको यूँ हंसते हंसते । मेरे दोस्त बड़े नालायक हैं कह देंगे - भाभी नमस्ते ।
*********
कौन तुमको रब से बढ़कर मानता है । ये तुमसे बेहतर भला कौन जानता है ?
*********
1 बात कहूँ इश्क अगर बुरा न माने ।  बङे सकून के दिन थे तेरी मुलाकात से पहले । 
********
कलम रूमाल कागज ख़त किताबें फूल गुलदस्ते । पड़े रहते हैं यूं ही मेज पर जब तुम नहीं होते ।
********
जिन्दगी बदल जाती हैं अक्सर तारीफों के सैलाब से । नासमझ हो अगर तो इतिहास उठाकर देख लो । 
********

सीख ली अदा जिसने गम में भी मुस्कुराने की । उसे क्या खाक मिटा सकेंगी ये गर्दिशें ज़माने की ।
*******
न कहा करो हर बार कि हम छोड़ देंगे तुमको । न हम इतने आम हैं न ये तेरे बस की बात है ।
***********
मौत के बाद याद आ रहा है कोई । मिट्टी मेरी कब्र से उठा रहा है कोई ।
ऐ खुदा ! 2 पल की जिन्दगी और दे दे । मेरी कब्र से उदास जा रहा है कोई ।
*************
जिन्दगी 1 Railway Station है । प्यार 1 Train है । 
जो आती है और चली जाती है । पर दोस्ती Enquiry Counter है । 
जो हमेशा कहती है - MAY I HELP U ?
***********
श्रीमती जी की रात के 2 बजे अचानक नींद खुली । तो पाया कि पति बिस्तर से नदारद है । जिज्ञासावश उठीं । खोजा । तो देखा । डाइनिंग टेबल पर बैठे पति कॉफी का कप हाथ में लेकर विचारमग्न दीवार को घूर रहे हैं । पत्नी चुपचाप पति को कॉफी की चुस्की लेते हुए बीच बीच में आँख से आँसू पोंछते देखती रही । फिर पति के पास गई । और बोली - क्या बात है डियर ? तुम इतनी रात गए यहाँ क्या कर रहे हो ?
पति जी ने कॉफी से नज़र उठाई - तुम्हें याद है । 14 साल पहले जब तुम सिर्फ 18 साल की थीं ? पति बड़ी गम्भीरता से बोला ।
पत्नी पति के प्यार को देखकर भाव विभोर हो गई । बोली - हाँ ! याद है । कुछ रुककर पति बोले - याद है । जब तुम्हारे जज पिताजी ने हमें मेरी कार की पिछली सीट पर रंगे हाथों पकड़ लिया था ?
- हाँ..हाँ..याद है ।
- याद है । कैसे उन्होंने मेरी कनपटी पर बन्दूक रखकर कहा था - या तो इससे शादी कर लो । या 14 साल के लिए अन्दर कर दूँगा ।
- हाँ..हाँ..वह भी याद है ।
अपनी आँख से एक और आँसू पोंछते हुए पति बोला - अगर मेँ जेल मेँ जाता । तो आज मैं छूट गया होता ।
**********
1 बार 1 लड़की देर रात को अपने आफिस से घर जा रही थी । रात बहुत थी । और सुनसान रास्ता । तभी कुछ लड़के वहाँ आ गये । लड़की डर से सहम गई । इतनी डरी हुई थी कि वो वहाँ से 1 कदम बढ़ भी नही पा रही थी । तभी उन लड़कों में से 1 लड़का उस लड़की के पास आया । और बोला - आप घबरायें न बहन जी । ये शीला का दिल्ली नहीं । मोदी का गुजरात है । 
**********
6 साल का 1 लड़का अपने दोस्तों के साथ 1 बगीचे में फूल तोड़ने के लिए घुसा । उसके दोस्तों ने बहुत सारे फूल

तोड़कर अपनी झोलियां भर लीं । वह लड़का सबसे छोटा और कमज़ोर होने के कारण सबसे पिछड़ गया । उसने पहला फूल तोड़ा ही था कि बगीचे का माली आ पहुँचा । दूसरे लड़के भागने में सफल हो गए । लेकिन छोटा लड़का माली के हत्थे चढ़ गया । बहुत सारे फूलों के टूट जाने और दूसरे लड़कों के भाग जाने के कारण माली बहुत गुस्से में था । उसने अपना सारा क्रोध उस 6 साल के बालक पर निकाला । और उसे पीट दिया । नन्हे बच्चे ने माली से कहा - आप मुझे इसलिए पीट रहे हैं । क्योंकि मेरे पिता नहीं हैं । यह सुनकर माली का क्रोध जाता रहा । वह बोला - बेटे ! पिता के न होने पर तो तुम्हारी जिम्मेदारी और अधिक हो जाती है । माली की मार खाने पर तो उस बच्चे ने 1 आंसू भी नहीं बहाया था । लेकिन यह सुनकर बच्चा बिलखकर रो पड़ा । यह बात उसके दिल में घर कर गई । और उसने इसे जीवन भर नहीं भुलाया । उसी दिन से बच्चे ने अपने ह्रदय में यह निश्चय कर लिया कि वह कभी भी ऐसा कोई काम नहीं करेगा । जिससे किसी का कोई नुकसान हो । बड़ा होने पर वही बालक भारत के स्वतंत्रता प्राप्ति के आन्दोलन में कूद पड़ा । और 1 दिन उसने लाल बहादुर शास्त्री के नाम से देश के प्रधानमंत्री पद को सुशोभित किया ।
**********
ना कर कदर मेरे प्यार की तुझे परवाह नहीं मेरे प्यार की ।
आज न कर ख्याल इन आंसुओं का मेरे ।
कल याद आयेगी इस यार की ।
**********
माना कि गुनहगार हूँ मैँ । तुम 1 बेगुनाह तो ढूँढ कर लाओ यारो ।
***********
मुझे भी याद तेरी अब नहीं सताती है । तेरा जूनून भी अब कम दिखाई देता है ।
*******
बढ़ा के बांह गले से लगा लिया तुझको । मैं अपने आप से नाराज़ कब तक रहती ।
*********
ऐ इश्क ! 1 बात तो बता ? क्या सबको आजमाते हो ?  या मेरे साथ ही तेरी दुश्मनी है ।
*********

उसकी चौखट को मैंने चूम कर सजदे में सर को झुका लिया ।
अपनी दुआओं का क्या हिसाब दूँ तुझको ही उससे माँग लिया । 
*********
सुकून और इश्क वो भी दोनों 1 साथ । रहने दो अब कोई अक्ल वाली बात करो ?
*******
प्यार किसी से जितना किया रुसवाई ही मिली । वफा चाहे जितनी भी की बेवफाई ही मिली ।
जितना भी किसी को अपना समझा हमने । जब आँख खुली तो हमेँ तन्हाई ही मिली ।
*************
मत देख कोई शख्स गुनहगार कितना है ? ये देख तेरे साथ वफ़ादार कितना है ।
ये मत सोच उसे कुछ लोगों से नफ़रत है । ये देख उसे तुझसे प्यार कितना है ।
********* 
आपसे वही लोग जलने लगे । जिन्हें आपका कद खलने लगे । 
***********
ऐ मोहब्बत ! तुझे पाने की कोई राह नहीं ।  तू सिर्फ उसे ही मिलती जिसे तेरी परवाह नहीं ।
*********
तुम लाख छुपाओ सीने में एहसास हमारी चाहत का । जब भी दिल तुम्हारा धडकता है आवाज यहाँ तक आती है ।
**********
मुझे पाकर शायद तुम्हें कुछ अहसास न हो ।  लेकिन 1 दिन मुझे खोने का गम तुम्हें बहुत तङपायेगा ।
********
उसकी बेवफाई पे यूँ हैरान क्यों होता है । जिन्दगी कहकर उसे तूने ही तो पुकारा था कभी ।
**********
अपने दिल में अरमान कोई रखना । दुनियां की भीङ में पहचान कोई रखना ।
अच्छे नही लगते जब होते हो उदास । इन होठों पे सदा मुस्कान बनाये रखना ।
**********
उनकी पलकों से हुई है शुरू ये दास्तां ऐ मोहब्बत ।
जिनका झुकना भी क़यामत और उठाना भी क़यामत ।
********
तुझसे नफरत बहुत ज़रूरी थी । ये न करते तो प्यार हो जाता ।
********
अब इतना न करीब आओ कि मेरे दुपट्टे को ।  हो जाये मुहब्बत तुम्हारी कमीज से ।
**********
1 अनकही अनसुनी अनदेखी कहानी है । बेवजह नहीं मेरी आँखों से बहता पानी है ।
हर 1 चेहरे में खोजती मेरी नज़रें उनको । ये कैसी मेरी मोहब्बत है कैसी नादानी है ।
******
जिन्दगी तो सभी के लिये वही है । फ़र्क है तो बस इतना कि । 
कोई दिल से जी रहा है । और कोई दिल रखने के लिये जी रहा है ।
********
दिल तोड़ भी दे वो तो ग़म न करो । पर दिल से मुहब्बत कम न करो ।
उनकी यादों के संग मुस्कुराते रहो । अश्क़ से उनके ख्वाबों को नम ना करो ।
जब तक़ तुम जियो यूँ ही चाहो उन्हें । आरजुओं कि लौ को कम ना करो ।
देख तेरी वफ़ा सुन के तेरी सदा । लौट ही आयेंगे वो भरम ना करो ।
**********
शायद वो मुझे भूल ही गया होगा । इतनी मुद्दत तक कोई खफ़ा नहीं रहता ।
एक टिप्पणी भेजें