13 नवंबर 2012

कम्प्यूटर के लिए संस्कृत सबसे उपयुक्त भाषा है


जी हाँ ! यह सत्य है । आज़ादी के बाद उस समय के अधिकांश राष्ट्रवादी संस्कृत को ही भारत की राष्ट्र भाषा घोषित करना चाहते थे । परन्तु नेहरु के संकीर्ण सेकुलरिज्म के कारण ऐसा हो न सका । जिसका खामियाजा आज भी भुगतना पढ़ रहा है । सोचिये । यदि उस समय संस्कृत को राष्ट्र भाषा का दर्जा मिल गया होता । तो वर्तमान में देश के हालत बहुत ही अलग होते । सबसे महत्वपूर्ण बात । हिन्दू धर्म के लोग अपने धर्म ग्रंथो का आराम से अध्ययन कर पाते । साथ ही दुसरे धर्म के अनुयायी भी हिन्दू धर्म के ग्रंथो को पढ़ पाते । जिससे समाज में सद भाव बढ़ता । क्योंकि वो उसे समझते । किसी की सुनी सुनाई बातों पर यकीन नहीं करते । और न ही किसी तरह के बहकावे में आते । जिससे साम्प्रदायिक खतरा या दंगे होने की सम्भावना पूरी तरह से नगण्य हो जाती । गाली गलौज वाला सामाजिक परिवेश पैदा ही नहीं होता । कारण संस्कृत में गालियां हैं ही नहीं । गला सम्बन्धी रोग नहीं होते । बुद्धि तीवृ होती । वर्तमान में समाज का जो नैतिक पतन हो रहा है । वह देखने को नहीं मिलता । दुनिया भर के वैज्ञानिक भी संस्कृत को सबसे सही वैज्ञानिक भाषा मान चुके हैं । कम्प्यूटर की भाषा के लिए भी संस्कृत सबसे उपयुक्त भाषा है । दुनिया भर में कई स्कूलों में संस्कृत को पढ़ना पूर्ण रूप से अनिवार्य कर दिया गया है । और 1 हमारा देश है । जो अपनी ही भाषा को एहमियत नहीं दे रहा है । सिर्फ झूटे सेकुलरिज्म के कारण । हम उम्मीद करते हैं । भविष्य में 1 न 1 दिन संस्कृत को भारत की राष्ट्र भाषा घोषित किया जायेगा । कुछ और पुराने ऐतिहासिक न्यूज़ पेपर की झलक देखने के लिए यहाँ देखें । जय माँ भारती ।
https:// www.facebook.com /media/set/ ?set=a.427309437 285607.119677.1 49545438395343& type=%E0%A5%A9
http://www.facebook.com/photo.php?fbid=369782876442474&set=a.255448701209226.63459.161551023932328&type=1&theater
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
सलमान खुर्शीद के ट्रस्ट का फर्जीवाड़ा 10 साल से चल रहा है । लेकिन रसूखदारों के आगे जांच अधिकारी नौकरशाह भी कानो में तेल दिये बैठे है । पढ़े " छत्तीसगढ़ " की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट
https://www.facebook.com/Faceb00kChoupalyk 
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
मामले सामने आ रहे हैं । जिनमें रोजाना कई लोगों की जानें जा रही हैं । 1 दिन बैठे बैठे मन में प्रश्न उठा कि आखिर देश की सबसे आधुनिक सड़क पर ही सबसे ज्यादा हादसे क्यों हो रहे हैं ? और हादसों का तरीका भी केवल 1 ही । वो भी टायर फटना ही मात्र । ऐसा कौन सी कीलें बिछा दीं सड़क पर । हाईवे बनाने वालों ने ?

दिमाग ठहरा खुराफाती । सो सोचा । आज इसी बात का पता किया जाये । तो टीम IAI जुट गई । इसका पता लगाने में । अब सुनिये । हमारे प्रयोग के बारे में । मेरे पास तो इको फ्रेंडली हीरो जेट है । सो इतनी HI FI गाडी को तो एक्सप्रेस वे अथारिटी इजाजत देती नहीं । सो हमारे एडमिन पैनल की दूसरी खुराफाती हस्ती को मैंने बुला लिया । उनके पास BMW X1 SUV है  ( ध्यान रहे । असली मुद्दा टायर फटना है ) सबसे पहले हमने ठंडे टायरों का प्रेशर चेक किया । और उसको अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप ठीक किया । जो कि 25 PSI है ( सभी विकसित देशों की कारों में यही हवा का दबाव रखा जाता है । जबकि हमारे देश में लोग इसके प्रति जागरूक ही नहीं हैं । या फिर ईंधन बचाने के लिए जरुरत से ज्यादा हवा टायर में भरवा लेते हैं । जो कि 35 से 45 PSI आम बात है )
खैर.. अब आगे चलते हैं । इसके बाद ताज एक्सप्रेस वे पर हम नोएडा की तरफ से चढ़ गए । और गाडी दौडा दी । गाडी की स्पीड हमनें 150 - 180 KM /H रखी । इस रफ़्तार पर गाडी को पौने 2 घंटे दौड़ाने के बाद हम आगरा के पास पहुँच गए थे । आगरा से पहले ही रूककर हमने दोबारा टायर प्रेशर चेक किया । तो यह चौंकाने वाला था । अब टायर प्रेशर था 52 PSI अब प्रश्न उठता है कि - आखिर टायर प्रेशर इतना बढ़ा कैसे ? सो उसके लिए हमने थर्मोमीटर को टायर पर लगाया । तो टायर का तापमान था 92 .5 डिग्री सेल्सियस ।
सारा राज अब खुल चुका था कि टायरों के सड़क पर घर्षण से तथा ब्रेकों की रगड़ से पैदा हुई गर्मी से टायर के अन्दर की हवा फ़ैल गई । जिससे टायर के अन्दर हवा का दबाव इतना अधिक बढ़ गया । चूँकि हमारे टायरों में हवा पहले ही अंतरिष्ट्रीय मानकों के अनुरूप थी । सो वो फटने से बच गए । लेकिन जिन टायरों में हवा का दबाव पहले से ही अधिक ( 35 -45 PSI ) होता है । या जिन टायरों में कट लगे होते हैं । उनके फटने की संभावना अत्यधिक होती है ।
अत : ताज एक्सप्रेस वे पर जाने से पहले अपने टायरों का दबाव सही कर लें । और सुरक्षित सफ़र का आनंद लें । मेरी एक्सप्रेस वे अथारिटी से भी ये विनती है कि - वो भी वाहन चालकों को जागरूक करे । ताकि यह सफ़र अंतिम सफ़र न बने । आप सभी फेस बुक मित्रों से अनुरोध है कि इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें । चूंकि ऐसा करके आपने यदि 1 जान भी बचा ली । तो आपका मनुष्य जन्म धन्य होगा ।
http://www.facebook.com/photo.php?fbid=458100287575625&set=a.423625171023137.117768.225421884176801&type=1&theater
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
पूर्व IPS ऑफिसर और सीनियर एडवोकेट वाई पी सिंह ने अरविंद केजरीवाल पर केंद्रीय मंत्री शरद पवार को बचाने का आरोप लगाते हुए कई गंभीर सवाल खड़े किए । गुरुवार को मुंबई में 1 प्रेस कांफ़्रेंस में वाई पी सिंह ने कहा - सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का उलंघन करते हुए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे अजित पवार ने बिना सार्वजनिक नीलामी के लवासा की 348 एकड़ जमीन लेक सिटी कॉरपोरेशन को 23
000 रुपये प्रति वर्ग फुट किराए पर 30 साल के लिए लीज पर दे दी । इस कंपनी में शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और उनके पति सदानंद सुले के शेयर थे । उन्होंने सुप्रिया सुले पर संपत्ति का गलत विवरण देने का भी 

आरोप लगाया । उन्होंने कहा - केजरीवाल को सिंचाई घोटाले से जुड़े बड़े घोटाले की खबर थी । शरद पवार के इसमें शामिल होने के सबूत भी उनके पास थे । इसके बावजूद उन्होंने इस मामले
को छिपा लिया । और इसके बदले BJP अध्यक्ष नितिन गडकरी का मामला उठाया । जो इसके सामने बहुत छोटा मामला है । उन्होंने कहा - ऐसा लगता है । जैसे केजरीवाल ने अपने राजनीतिक समीकरणों को करप्शन के खिलाफ लड़ाई से ज्यादा अहमियत दी । वाई पी सिंह ने कहा - मेधा पाटकर के नेतृत्व में 1 समिति बनी थी । जिसके सामने महाराष्ट्र के कई मामले थे । उस समिति में मैं और अरविंद दोनों सदस्य थे । इस समिति के सामने भी शरद पवार का भृष्टाचार का मामला था । मुझे उम्मीद थी कि अरविंद केजरीवाल बुधवार को यही खुलासा करेंगे । लेकिन उन्होंने इसे छोड़कर बहुत हल्का मामला उठाया । उन्होंने कहा - वह इस मामले को आगे बढ़ाएंगे । ताकि इसमें प्राथमिकी दर्ज हो । और कानूनी जांच की प्रक्रिया आगे बढ़े ।
http://www.facebook.com/photo.php?fbid=429824847081362&set=a.370607759669738.87990.370597503004097&type=1&theater
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
न रोको हमारे क़दम बहार ए चमन । और भी कई महफ़िलें और भी कई चमन ।
अगर आज न जा सके तेरे दर से । फिर न जा सकूँगी छोड़कर तेरा आँगन । रजनी ।
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
नरेन्द्र मोदी कहते हैं - कोई मुख्यमंत्री कहीं पर भी जाता है ना । तो कोई उसे मोमेंटो देते हैं । कोई बहुत बड़ी वाल पेंटिंग देता है । कोई चांदी की चीजें देता है । तो कोई गोल्ड की चीजें देता है आदि आदि । बड़ी अच्छी अच्छी चीजें देते हैं भैया । ये मैं पब्लिकली बता रहा हूँ । कई बारी वो जो लपेटकर देते हैं ना । उसमें बहुत बढ़िया माल होता है

साहब । तो ये सब मुझे भी मिलती थी । लेकिन मुझको ईश्वर ने कहा कि - बेटे तुम क्या करोगे इनका ? तुम्हारा है कौन ? किसके लिए चाहिये तुम्हें ये सब ? और वैसे भी मैं सुखी हूँ । क्योंकि मेरे आगे पीछे मैंने सब कुछ खाली रखा हुआ है । तो मैंने तय किया कि मुझे जो कुछ भी मिलता है । वो मैं सरकार के खजाने में जमा कर दिया करूँगा । मेरे राज्य में मुझसे पहले 13 मुख्यमंत्री हुये साहब । और उन 13 मुख्यमंत्रियों ने Total 183 चीजें सरकार के खजाने में जमा करवाई थी । और उनमें भी ज्यादातर कैंचियां थीं । जो कि उन्हें फंक्शन में धागा काटने के लिए मिली थी । खैर.. मैंने अब तक करीब 4500 चीजें जमा करवाई हैं । फिर मैंने उन्हें auction करवाया ।  उस auction से मुझे अब तक करीब 90 करोड़ रुपये मिले हैं । 90 करोड़ । और ये सारे के सारे 90 करोड़ रुपये मैने सरकार के माध्यम से गुजरात में Girl Child Education के ऊपर खर्च कर दिए हैं । क्योंकि मैं नहीं चाहता कि मेरे राज्य में कोई भी बच्ची अशिक्षित रहे ।
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
Those who eat the Nation are above the 'poverty line' and those who feed the Nation are below the poverty line - Rajiv Chaturvedi
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
MAID - what would u like to have, fruit juice, yogurt, tea, chocolate, cappuccino , frappuccino or coffee ? ME - tea pls.
MAID - Ceylon tea, Indian tea, herbal tea, kericho gold tea,bush tea or green tea ?
ME - Ceylon tea pls.
MAID - how do u want it, black or white ? ME - white. 
MAID - milk or fresh cream ? ME - with milk.
MAID - goat milk or cow milk ? ME - cow’s milk.
MAID - freezeland cow or Afrikaner cow ? ME - umm, lemme go with d freezeland cow.
MAID - would u lyk it with sweetener, sugar or honey ? ME - sugar.
MAID -  bee sugar or cane sugar ? ME - cane sugar
MAID - white, brown or yellow sugar ? ME - abeg, forget abt d tea, just give me a glass of water.
MAID - mineral, tap or distilled water ? ME - mineral water.
MAID - flavoured or non flavoured ? ME - infact get me an empty glass !
MAID - do u want a tumbler, wine glass, champagne flute or a beer mug ?
ME - abeg, free me, i go swallow my spit.
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
नांगे आवत नांगे जाना । कोई न रहि है राजा राना । राम राजा नव निधि मेरे । संपै हेतु कलतु धन तेरै ।
आवत संग न जात संगाती । कहा भयो दर बाँधे हाथी । लंका गढ़ सोने का भया । मूरख रावन क्या ले गया । कह कबीर कुछ गुन बीचारि । चलै जुआरी दुइ हथ झारि । कबीर ।
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
Woman wants a man with great future and man want a woman with good past
ƸӜƷƸӜƷƸӜƷ
सस्ती ज़मीनें निगलने वाला । खुराफाती जीजा ( और उसका ) मंदबुद्धि साला ।
http://www.scribd.com/doc/110403634/Rahul-Gandhi-Robert-Vadra-Land-Registry-Mutation-copies
एक टिप्पणी भेजें