02 मार्च 2012

सिद्धाश्रम

आदरणीय राजीव जी ! अभी कुछ दिनों पहले मैंने डॉ.... दत्त ..ली जी की एक पुस्तक पढ़ी । उसमें सिद्धाश्रम का उल्लेख हैं । क्या सिद्धाश्रम नाम की कोई जगह कही हैं ? सिद्धाश्रम में एक तालाब का वर्णन हैं । जिसमे नहाने से कायाकल्प हो जाता हैं । वहाँ अनेक सिद्ध पुरुष रहते हैं । जिनकी उमृ 1000 - 500 साल बताई हैं । जो वही तपस्या में लीन रहते हैं । और अनेक चमत्कारी बातों का वर्णन हैं । क्या पृथ्वी पर ऐसी कोई जगह या आश्रम हो सकता हैं ? आपके उत्तर का अभिलाषी - प्रेम कुमार
**************
प्रेम जी डा ...ली एक छोटे स्तर के सिद्ध कुछ तांत्रिक सिद्धियाँ और कुछ तांत्रिक विध्याओं के जानकार थे । वह बहुत से निकृष्ट तांत्रिकों के सम्पर्क में भी रहते थे । ये लोग कभी कभार अपनी तंत्र विध्याओं का एक सम्मेलन सा करते हैं । जिनमें एक दूसरे को नीचा दिखाने की प्रवृति अधिक होती है । ऐसे ही सिद्धों के ठिकाने को ... ली ने सिद्धाश्रम कहा है । बाकी तांत्रिक लोकों सिद्ध लोकों में ऐसे सिद्धाश्रम अवश्य होते हैं । प्रथ्वी पर ऐसा कोई तालाब नहीं हैं । हाँ ऋषियों के समय में अवश्य थे । जैसे च्यवन ऋषि का ओंछा नामक स्थान पर था । जिसका प्रभाव अब समाप्त हो चुका है । कुछ एक जङी बूटियों से युक्त । खनिजों से

युक्त जल वाले तालाब । हिमालय और अन्य जगहों पर अबश्य हैं । जिनसे चर्म रोग गठिया आदि रोगों में कुछ लाभ हो जाता है । बाकी कायाकल्प का अर्थ बहुत बङा है । कुण्डलिनी तंत्र मंत्र विधा में चमत्कार कोई ज्यादा बङी चीज नहीं हैं । बल्कि उपचार की तरह है । वास्तव में व्यक्ति की आवश्यकता क्या है । इस पर निर्भर है । आपको आश्चर्य होगा । .. ली जैसे तांत्रिकों का निश्चित अंजाम नरक और फ़िर तुच्छ तांत्रिक लोक होते हैं । मेरी आपको यही सलाह है । भूलकर भी किसी तांत्रिक से कोई उपचार और सहायता कभी न लें । उसकी अपेक्षा मृत्यु हो जाना अच्छा है । सात्विक भक्तिमय कोई भी उपचार कभी भी ले सकते हैं ।
***************

आदरणीय राजीव जी ! उत्तर देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद । क्यूंकि ये जिज्ञासा मुझे बहुत दिनों से परेशान कर रही थी कि - क्या ऐसा हो सकता हैं ? पर आपके उत्तर से मुझे बहुत संतुष्टि हुई हैं । मैं आपका आभारी हूँ । एक बार फिर से आपका बहुत बहुत धन्यवाद । और आपको प्रणाम । आपका स्नेहभिलाशी । प्रेम कुमार 


एक टिप्पणी भेजें